Lyrics – Muafi Muafi Mushkil (Mom (2017))

Song: Muafi Muafi Mushkil (Mom) 2017

Song Lyricists: Irshad Kamil

Music Composer: A.R. Rahman

Music Director: A.R. Rahman

Director: Ravi Udyawar

Singers: Darshana KT 

Movie: Mom (2017)

Sab hai na…. Sab hai na…. Sab hai na….

Aankhon ki jheel me subah hai jawaan

Subah se rootha tu

Ab jo tuta tu muafi muafi mushkil…..muafi muafi mushkil

Chehre pe khalish hai baaki, yaad me orr tapish hai baaki

Bante bante bante banta hai, Mausam maatam jaisa bhi

Hote hote hote hota h, Hasna bhi gum jaisa bhi, Koi ho ab jaisa bhi

Andhera….uthaale….. ujaala……. sambhaale……

Aankhon ki jheel me subah hai jawaan

Subah se rootha tu …….Muafi muafi muafi mushkil………..

 

(In Hindi)

सब है ना …..सब है ना ……सब है ना ……….

आँखों की झील में सुबह है जवाँ…..सुबह से रूठा तू……..अब जो टुटा तू…..

माफ़ी माफ़ी मुश्किल……माफ़ी माफ़ी मुश्किल……

चेहरे पे खलिश है बाकी, याद में ऑर्डर तपिश है बाकी

बनते बनते बनते बनता है, मौसम मातम जैसा भी

होते होते होते होता है, हसना भी गम जैसा भी…..कोई हो अब जैसा भी…..

अँधेरा….उठाले….उजाला……संभाले

आँखों की झील में सुबह है जवाँ…..सुबह से रूठा तू……..अब जो टुटा तू…..

माफ़ी माफ़ी मुश्किल……माफ़ी माफ़ी मुश्किल……

Leave a Reply